समुदाय मानक

मुक्त भाषण पर बहस के लिए समर्पित वेबसाइट एक दिलचस्प सवाल उठाती है : हम कितनी आज़ादी से मुक्त भाषण के बारे में बात कर सकते हैं? चूंकि हमारा विषय अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है, हम चाहते हैं कि सभी योगदानकर्ता जितना संभव हो सके स्वतंत्र रूप से अभिव्यक्त करें – यहां तक कि सबसे कठिन मुद्दों पर भी। इसका मतलब यह नहीं है कि दुनिया में किसी भी विषय को लेकर कुछ भी करने के लिए कोई भी इस स्थान का दुरुपयोग कर सकता है,  कहना न होगा जैसे उत्पादों, अवांछनीय ई-मेल, और घोटाले। अगर कोई ऐसा करता है, तो बातचीत असंभव हो जाएगी। स्वतंत्रता अराजकता नहीं है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर एक विश्वव्यापी बहस वैश्विक मनोरोग के जैसी नहीं है।

हम चाहते हैं कि एक ऐसी जगह हो जहां हर किसी का मुक्त, उपयोगी और सभ्य बहस में शामिल होने के लिए स्वागत किया जाता है। वहाँ कानून भी हैं, जिसका हमें पालन करना चाहिए – भले ही हम में से कुछ उन कानूनों को बदलाने के लिए बहस करें। निम्नलिखित अनुच्छेद समुदाय मानकों को स्थापित करता है जिनका आपको इस वेबसाइट का उपयोग करने के साथ पालन करने की आवश्यकता होगी, और विचार करने का संकेत देती है जोकि हमारे मध्यस्थों का मार्गदर्शन करेगी। इन मानकों के चित्रण करना अपने आप में स्वतंत्र अभिव्यक्ति की वैध सीमा के बारे में चिंतन करने का एक अभ्यास है।

1. मजबूत सभ्यता। हमारे अपने चौथे सिद्धांत के साथ (“हम मानवीय अंतर के सभी प्रकार के बारे में खुलकर और सभ्यता के साथ बात करते हैं “), और इस प्रयोग की पूरी भावना, हम चाहते हैं कि हर व्यक्ति किसी भी प्रासंगिक विषय पर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बारे में बहस करने के लिए खुद को अभिव्यक्त करने में सक्षम हो। हम यह भी मानते ​​है कि सभ्यता के स्तर पर, जिसकी ऐसी बहस को सक्षम बनाने के लिए जरूरत है, विशेष रूप से बहुत ही विविधतापूर्ण देशों, संस्कृतियों और भाषाओं में । हालांकि, सभ्यता की सीमाओं के संदर्भ में काफी अंतर आता है और कभी-कभी बहुत व्यापक हो सकता है – उदाहरण के लिए, जब व्यंग्य, हास्यानुकृति या व्यंग चित्र की बात आती है। हम इस भावना को वाक्यांश “मजबूत सभ्यता” में संक्षेप में प्रस्तुत करते हैं।

2. कानून। ब्रिटेन में स्थापित ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और इंग्लैंड तथा वेल्स के कानूनों के अधीन है। तदनुसार, आपके द्वारा किए गए वक्तव्य योगदान में ब्रिटेन में लागू कानून का पालन होना चाहिए। चूंकि वेबसाइट सैद्धांतिक रूप से दुनिया भर में सुलभ है, आप जानते होंगे कि आप भी अन्य क्षेत्राधिकार में अभियोजन के लिए उत्तरदायी हो सकते है।

कुछ भी जो  आपको लगता है कि इन समुदाय मानकों का उल्लंघन करता है, तो किसी उपयोगकर्ता-निर्मित टिप्पणी पर “रिपोर्ट” बटन का उपयोग करें और/ या हमें report@freespeechdebate पर ईमेल करें। इस  घटना में जिसके उल्लंघन की सूचना दी गई है, विश्वविद्यालय निर्धारण करेगा कि इस वेबसाइट के किसी उपयोगकर्ता ने इन समुदाय मानकों का उल्लंघन किया है या नहीं और उचित कार्रवाई करेगा।

स्पष्टता, प्रासंगिकता, और मजबूत सभ्यता के हमारे लक्ष्यों को प्राप्त करने, और कानून का पालन करने के लिए, सामग्री के प्रकार जिनको हटाया जा सकता है निम्नलिखित में हैं:

  • हिंसा के लिए शह देना।
  • व्यक्तिगत अपशब्द और मानहानि, जिसमें खतरे, युद्धों और फुसलाना शामिल हैं।
  •  जाति, लिंग, धर्म, यौन अभिविन्यास, आयु, विकलांगता, राष्ट्रीयता या जातीय मूल के आधार पर भेदभाव करने के लिए शह देना।
  • अश्लीलता
  • गोपनीयता और प्रासंगिक आंकड़ा संरक्षण कानून पर अन्य लोगों के अधिकार का उल्लंघन करना।
  • दूसरों या किसी भी सामग्री  का प्रतिरूप, जो आपकी पहचान या किसी भी व्यक्ति या संगठन की संबद्धता को ग़लत अर्थों में पेश करता है।
  • कॉपीराइट, डेटाबेस अधिकार, ट्रेडमार्क या इसी तरह के बौद्धिक संपदा का उल्लंघन करता है।
  • अवांछनीय ई-मेल सहित वाणिज्यिक और / या प्रचार सामग्री।
  • सामग्री जिसके द्वारा अदालत की अवमानना हो सकती है।

विश्वविद्यालय इस पृष्ठ में संशोधन करके किसी भी समय इन समुदाय मानकों में पुनः अवलोकन कर सकता है। कृपया इसे भी देखें:कॉपीराइट और सम्बन्ध नीति गोपनीयता नीति अभिगम्यता नीति [लिंक]

picture_as_pdf Create PDF

Leave a comment in any language

What's missing?

Is there a vital area we have not addressed? A principle 11? An illuminating case study? Read other people’s suggestions and add your own here. Or start the debate in your own language.

Get involved

Free Speech Debate is a research project of the Dahrendorf Programme for the Study of Freedom at St Antony's College in the University of Oxford. www.freespeechdebate.ox.ac.uk

The University of Oxford